अब तकअभी तकबाराबंकी

प्रख्यात गांधीवादी, पूर्व केंद्रीय मंत्री व प्रसिद्ध उद्योगति कमल मोरारका के असमायिक निधन पर गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट के तत्वावधान में गांधी शोकसभा का किया गया आयोजन।

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी। प्रख्यात गांधीवादी, पूर्व केंद्रीय मंत्री व प्रसिद्ध उद्योगति कमल मोरारका के असमायिक निधन पर गांधी जयन्ती समारोह ट्रस्ट के तत्वावधान में गांधी भवन में शोकसभा का आयोजन किया गया।
शोक सभा की अध्यक्षता कर रहे समाजवादी चिन्तक राजनाथ शर्मा ने कहा कि कमल मोरारका के निधन से गाँधी जयंती समारोह ट्रस्ट परिवार स्तब्ध है। यह हम सभी के लिए अपूरणीय क्षति है। मोरारका ने वर्ष 2012 में महात्मा गांधी के जीवन से जुड़ी 26 दुर्लभ वस्तुओं को लंदन में नीलामी के दौरान खरीदकर देश के सम्मान की रक्षा की थी।
श्री शर्मा ने बताया कि कमल मोरारका के पिता एम.आर. मोरारका हिन्दुस्तान के पहले उद्योगपति थे जिन्होंने इंदौर की हुकुमचन्द मिल को गांधीजी के ट्रस्टीशिप के सिद्धान्त पर चलाया और देश के बड़े उद्योगपतियों में नज़ीर पेश की थी। उन्हीं की प्रेरणा से कमल मोरारका महात्मा गांधी से प्रभावित हुए। उन्होंने भारतीय मूल्यों के साथ अनुकरणीय जीवन जिया। वह गाँधी जयंती समारोह ट्रस्ट की गतिविधियों से बहुत प्रभावित रहते थे। हाल ही में कोरोना काल के दौरान गाँधी जयंती पर आयोजित हुए वर्चुअल कवि सम्मेलन एवं मुशायरे के मुख्य अतिथि रहे। उनकी सादगी और विनम्र स्वभाव ही उनकी पहचान थी।
श्री शर्मा ने बताया कि श्री गाँधी आश्रम की स्थापना के शताब्दी वर्ष पर गाँधी जयंती समारोह ट्रस्ट द्वारा ‘खादी, स्वदेशी और स्वावलंबन’ पर आधारित ‘आत्मनिर्भर भारत यात्रा’ की केंद्रीय समिति में शामिल करने का अनुरोध किया था। जिसे उन्होंने सहर्ष स्वीकार करते हुए यात्रा को पूर्ण समर्थन की बात कही थी। मोरारका जैसी शख्सियत की देश को बहुत जरूरत थी। उन्होंने जैविक खेती पर महत्वपूर्ण कार्य किए।
इस अवसर पर रिज़वान रज़ा, विनय कुमार सिंह, मृत्युंजय शर्मा, पाटेश्वरी प्रसाद, प्रसपा नेता धनंजय शर्मा, सत्यवान वर्मा, ज्ञान शंकर तिवारी, पी.के ंिसंह, विजय कुमार सिंह, इफ्तिखार हुसैन, नीरज दूबे, तरूण मिश्र, अशोक जायवाल, वीरेन्द्र प्रधान, हुमायूं नईम खान, नदीम वारसी, वासिक वारसी, अतीकुर्ररहमान, तौफीक अहमद अंसारी, जमील-उर-रहमान, संजय सिंह, प्रभाकर सिंह सहित अन्य लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button