बाराबंकी

इस संकट की घड़ी में कोटेदार भी साथ निभा रहे देश के लिए

रमेश यादव कोटवा धाम बाराबंकी

कोटेदार बन्धु अपनी जान पे खेल के जनता के लिए राशन वितरण कर रहे है और उनकी सराहना करने के बजाय उन पे कालाबाजारी का आरोप लगा कर के उनको बदनाम किया जा रहा है। मैं इसकी कड़ी भर्त्सना करते हुए घोर आपत्ति दर्ज करता हूँ । दुनियाभर के लिये कोरोना है जबकि कोटेदार महीने भर हजारो लोगों के संपर्क में ही रहता है सुबह सुबह जब लोग कोटेदार बंधु के दुकान पर राशन वितरण के लिए जाते हैं तो उनके पूरे घर वाले चिंतित रहते है कि इनके कारण #coronavirus घर पर ना आ जाये क्योंकि वो भी न्यूज़ देखते हैं। इसके बाद भी कोटेदारो के हिस्से में हमेशा बदनामी ही आती है। जबकि एतिहास गवाह है कि सबसे कम कमीशन में कोटेदार ही काम करते हैं और सामान्य दिनों में सबसे ज्यादा सामाजिक कार्य भी कोटेदारों के सहयोग से ही होते है। कुछ चंद गलत कोटेदारों की वजह से सबको गलत कहना उचित नहीं है आप सभी से निवेदन है कि वो कोटेदारो के लिये गलत भाषा का प्रयोग ना करे, तथा उनका सम्मान करे साथ ही साथ प्रशासन व पत्रकार बंधुओ से भी बिनम्र निवेदन है कि वो कोटेदारो को प्रोत्साहित करें एक ही पहलू देखकर हमें बदनाम न करें। इसके अलावा कोटेदारो से भी अपील है कि वे नियमानुसार राशन वितरित करे। सभी कोटेदारो बन्धु अपनी सुरक्षा का ध्यान रखते हुए राशन वितरण करे। सभी कोटेदारो को नमन।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Sorry !!