अब तकअभी तकऔरैया

भारतीय इतिहास में 30 जनवरी के दिन को एक बहुत ही दुखद दिन के रूप में किया जाता है याद

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

औरैया।भारतीय इतिहास में 30 जनवरी के दिन को एक बहुत ही दुखद दिन के रूप में याद किया जाता है दरअसल 30 जनवरी 1948 को ही महात्मा गांधी को गोली मार कर हत्या कर दी गई थी यही कारण है कि देश में 30 जनवरी यानी महात्मा गांधी की पुण्यतिथि को शहीद स्मृति दिवस के रूप में याद किया जाता है इस दिन महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि दी जाती 30 जनवरी 1948 को शाम में बिडला हाउस में नाथूराम गोडसे ने गोली मारकर राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की हत्या कर दी गई थी यह दिवस मौन देश के लिए जान निछावर करने वाले वीर सपूतों के लिए भी शहीद दिवस के रूप में मनाया जाता है जिन्होंने देश की आजादीके लिए अपनी जान दे दी थी बिधूना क्षेत्राधिकारी मुकेश प्रताकोतवाली बिधूना में 2 मिंट का मौन शहीद दिवस पर रखने के बाद अपने सभी पुलिस के जवानों को शहीद दिवस के बारे में जानकारी बताइए कि आखिर हम शहीद दिवस 2 मिनट का मौन क्यों रखते हैं और किसके लिए रखते हैं । जिसमे निर्भयचंद्र क्राईम इंस्पेक्टर , पवन दरोगा , हेमंत कुमार बिधूना कस्बा इंचार्ज , मुकेश कुमार दरोगा , कुदरकोट चौकी जितेंद्र मनीष रुरुगंज चौकी इंचार्ज रामू जादौन , निर्मल शुक्ला प्रेम , परवीन , प्रभा , ऋतु भारती , पूजा , कैलाश राजपूत राहुल द्विवेदी तुषार राजवीर , मनोज यादव समस्त सिपाही मौजूद रहे ।

Related Articles

Back to top button