Advertisement
मैनपुरी

जिला प्रशासन द्वारा बंद किया गया मंडी को जाने वाला रास्ता हॉटस्पॉट रहे सील, चप्पे-चप्पे पर तैनात रहा फोर्स

रिपोर्ट हिमांशु यादव भोगांव मैनपुरी

जनपद मैनपुरी। कोरोना के नए मामले सामने आने के बाद प्रशासन ने बुधवार रात से जिले को 72 घंटे के लिए सील कर दिया है। जिलेभर में सड़क से लेकर गलियों में पुलिस की तैनाती है। हॉटस्पॉट चिह्नित किए गए क्षेत्रों में विशेष सतर्कता बरती जा रही है। शुक्रवार को दूसरे दिन भी दवा, दूध, सब्जी सहित
अन्य जरूरी वस्तुओं के लिए लोग परेशान रहे।बुधवार देर रात शहर के मोहल्ला वंशीगोहरा और करहल कस्बे में एक-एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिला था। जांच रिपोर्ट आते ही जिलाधिकारी महेंद्र बहादुर सिंह ने 72 घंटे के लिए मैनपुरी जिले को सील करने के निर्देश दिए। इसके साथ ही वंशीगोहरा का एक किलोमीटर एरिया और करहल कस्बे को पूरी तरह से सील किया गया। यहां पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी विशेष सतर्कता बरत रहे हैं। गलियों को भी पूरी तरह से बंद करके पुलिसकर्मियों की तैनाती की जा रही है। जिलेभर को सैनेटाइज करने का काम जारी है।
शुक्रवार को भी जिलेभर में दवा की दुकानें नहीं खुलीं। सब्जी, फल और दूध की घर-घर आपूर्ति बाधित रही। इससे लोगों को परेशान होना पड़ा। सबसे ज्यादा परेशानी दवा न मिलने के कारण मरीजों को हुई।

नियम तोड़ने से बाज नहीं आ रहे लोग

शहरवासियों की सुरक्षा के लिए जिला और पुलिस प्रशासन पूरी मेहनत के साथ लॉकडाउन का पालन कराने में जुटा हुआ है। अधिकारी अपनी सुरक्षा की परवाह किए बिना ही लोगों की सुरक्षा के लिए सड़कों पर गश्त कर रहे हैं। बावजूद इसके कुछ लोग कानून का पालन नहीं कर रहे। कहीं न कहीं यह लोग अपने और दूसरों के लिए खतरा पैदा कर रहे हैं। शुक्रवार को सील होने के बाद भी वंशीगोहरा में लोग घरों के बाद टहलते हुए देखे गए।

लोगों से अपील है कि वह लॉकडाउन का पालन करके कोरोना से लड़ी जा रही लड़ाई में सहयोग करें। सभी अपने घर में ही रहें।
महेंद्र बहादुर सिंह, डीएम

विज्ञापन

विज्ञापन 2

विज्ञापन 3

विज्ञापन 4

विज्ञापन 5
advertisement

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
error: Sorry !!