कन्नौज

जिला अस्पताल में एक बार फिर लापरवाही का दिखाई पड़ा आलम

कन्नौज के जिला अस्पताल में एक बार फिर लापरवाही का आलम दिखाई पड़ा । दिमागी बुखार से पीड़ित बच्चे को इलाज के लिए जिला अस्पताल लाया गया था। यहां उसकी मौत हो गई। परिजनों ने बच्च्चे की मौत के बाद डाक्टरों पर लापरवाही का आरोप लगायाा । मामले में स्वास्थ्य अधिकारियों ने बताया कि बच्चे की हालत सीरियस थी जिसकी वजह से उसकी मौत हुई। किसी प्रकाार की कोई लापरवाही नहीं बरती गई है। कन्नौज सदर कोतवाली क्षेत्र के मिश्रीपुर गांव निवासी प्रेम चंद्र के एक वर्षीय पुत्र अनुज को कई दिनों से बुखार था। बुखार के चलते हालत बिगड़ी तो परिजन उसे लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। काफी देर तक वह बच्चे को लेकर इधर उधर भटकता रहा। इसके बाद इमरजेसी में लेकर पहुंचा। बच्चे की हालत खराब होने से डा. वीके शुक्ला ने जांच करने के बाद बच्चों के डाक्टर पीएम यादव के पास भेजा। काफी देर तक इधर उधर भटकने से बच्चे की मौत हो गई। इस पर परिजनों ने जिला अस्पताल में हंगामा काटना शुरू कर दिया। प्रेमचंद्र ने जिला अस्पताल के डाक्टरों पर आरोप लगाया कि उसके बच्चे के इलाज में लापरवाही बरती गई । इससे उसकी मौत हो गई। आधा घंटे तक हंगामा करने के बाद जानकारी सीएमएस को हुई तो उन्होंने परिजनों को समझाकर शव के साथ परिजनों को शव वाहन से घर भेजा। सीएमएस डा. यूसी चतुर्वेदी ने बताया कि बच्चे को पहले इमरजेंसी में उपचार दिया गया। दिमागी बुखार होने से डा. पीएम यादव ने भी देखा। प्राथमिक उपचार जितना संभव था वह सब दिया गया बच नहीं पाया एक्सपायर हो गया। उपचार में किसी तरह की लापरवाही नहीं की गई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button