बाराबंकी

ग्रामीण आंचलों में आवारा पशुओं की संख्या में दिनों दिन काफी हद तक होता जा रहा है इजाफा

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

जनपद बाराबंकी के ग्रामीण आंचलों में आवारा पशुओं की संख्या में दिनों दिन काफी हद तक इजाफा होता दिखाई दे रहा है जिसके चलते किसानों के खेतों में लगी फसलों पर अभी से संकट के बदल दिखाइ देने लगे है जिसके चलते क्षेत्र के हर एक किसान की चैन की नींद टूटी हुई है । खेतो की रखवाली करने में दिन रात एक करने वाले किसान अब काफी निराश व मायूस हो चुके है आलम यह है कि आवारा घूम रहे गाय व सांड के झुण्ड के झुण्ड जिस किसी के भी खेत में पहुच जाते है उस खेत में लगी फसल का सत्यानाश करके ही दम लेते है अगर कोई किसान अपनी फसल की रक्षा के लिए इन सांड़ो को लाठी लेकर खदेड़ता भी है तो ये सांड उल्टे भागने के बजाय उस किसान पर ही हमला कर देते है या फिर उसे ही दौड़ा लेते है जिसके चलते अक्सर कृषक चोटिल भी हो जाता है जबकि प्रदेश सरकार द्वारा इस संदर्भ में आवारा रूप से घूम रहे पशुओं पर लगाम कसने के लिए अधिक से अधिक धन का आवंटन कर गौशाला खुलवाने का भी फरमान जारी किया गया है तथा काफी संख्या में गौशालाएं संचालित भी है इसके बावजूद भी इन छुट्टा पशुओं की संख्या तेजी के साथ बढ़ती ही जा रहीहै ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button