अब तकअभी तकबाराबंकी

अंतराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस के अवसर पर चाइल्ड लाइन 1098 की टीम द्वारा जिले में विभिन्न स्थानों पर बाल अधिकार गोष्ठी, बच्चों के साथ खेलकूद, चार्ट एवं रंगोली प्रतियोगिताओं का किया गया आयोजन

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी। अंतराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस 20 नवम्बर को चाइल्ड लाइन 1098 की टीम द्वारा जिले में विभिन्न स्थानों पर बाल अधिकार गोष्ठी, बच्चों के साथ खेलकूद, चार्ट एवं रंगोली प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया और बच्चों के साथ संवाद स्थापित कर उन्हें सम्मानित किया गया। चाइल्ड लाइन जिला उपकेंद्र बनीकोडर द्वारा देवीगंज स्थित सौरभ शिक्षा सदन में अंतर्राष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस गोष्ठी और बच्चों की भाषण प्रतियोगिता कराई गई।इस कार्यक्रम के मुख्य अतिथि क्षेत्राधिकारी रामसनेही घाट श्री पंकज सिंह ने छात्र छात्राओं को सफलता की कहानी सुनाकर और सफल होने के टिप्स दिए। क्षेत्राधिकारी ने कहा कि बच्चों को उनके अधिकार सुनिश्चित कराना हम सबका दायित्व है। श्री सिंह बच्चों को सुरक्षा का एहसास दिलाते हुए कहा बच्चे देश का भविष्य है, बच्चों को शिक्षा, स्वास्थ्य, सुरक्षा और भागीदारी का हक मिलना चाहिए। विशिष्ट अतिथि चाइल्ड लाइन 1098 के निदेशक श्री रत्नेश कुमार बच्चों से उनके हक का नारा- हम बच्चों की मांगें चार, शिक्षा, सेहत, सुरक्षा और प्यार। लगवाया और कहा कि संयुक्त राष्ट्र महासभा के द्वारा बाल अधिकार के प्रस्ताव पर आज ही के दिन 20 नवम्बर 1989 को दुनिया के 196 राष्ट्रों ने अपने हस्ताक्षर कर बाल अधिकारों की सुनिश्चिति के लिए प्रतिबद्धता व्यक्त की है, इसलिए बच्चों के हक का आज महत्वपूर्ण दिन है। श्री रत्नेश ने कहा कि बाल अधिकारों के 54 अनुच्छेद मुख्य चार भागों में विभक्त है पहला उत्तरजीविता का अधिकार, दूसरा विकास का अधिकार, तीसरा संरक्षण पाने का अधिकार और चौथा सहभागिता का अधिकार सामिल है। सभ वयस्क लोगों को इन बाल अधिकारों को सुनिश्चित करना चाहिए। रत्नेश कुमार ने बच्चों को प्रेरित किया कि जहाँ कही किसी बच्चे का अधिकार हनन हो, किसी संकट में हो तो वह तुरंत चाइल्ड लाइन 1098 नम्बर डायल कर चाइल्ड लाइन टीम की मदद लें। टीम लीडर श्री अवधेश कुमार ने बच्चो से दस नौ आठ, बच्चों की है ठाठ के नारे लगवाए और सुरक्षित रहने के लिए टिप्स बताया। प्रधान संघ के पूर्व अध्यक्ष श्री अमर बहादुर सिंह ने बच्चों का उत्साह वर्धन करते हुए कहा बच्चों के शारीरिक और मानसिक आप परिपक्वता के दौरान बच्चों की कानूनी सुरक्षा देखरेख और संरक्षण करना बहुत ही जरूरी है। बाल विकास परियोजना अधिकारी श्रीमती मुन्नी भारती ने बाल देखरेख और पोषण से जुड़ी बातें बताया। इस अवसर पर छात्राओं ने मनमोहक स्वागत गीत और वाद्ययंत्र के अच्छी प्रस्तुति दी और बाल अधिकार पर अपने विचार रखे। कार्यक्रम का संचालन विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री अनिल कुमार शुक्ला ने किया। इस अवसर पर वरिष्ठ पत्रकार श्रीकांत तिवारी चाइल्ड लाइन टीम से राम कैलाश अखिलेश कुमार वंदना, अंजलि जायसवाल विद्यालय के शिक्षक जेके शुक्ला, पवन कुमार अवस्थी दिनेश चंद्र द्विवेदी जगतपाल सिंह आदि तमाम छात्र-छात्राएं व उनके अभिभावक गण मौजूद रहे
वहीं विकास खण्ड मसौली की ग्राम पंचायत शाहपुर कडेरा में अंतरराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस के मौके पर मुख्य अतिथि के तौर पर जैदपुर थाना अध्यक्ष संदीप कुमार राय का बच्चों का हौसला बढ़ाया। यहाँ आयोजित की गई चार्ट प्रतियोगिता में स्थान पाने वाले बच्चों को थानाध्यक्ष द्वारा पुरस्कृत किया गया। बच्चों के क्या अधिकार हैं इसके प्रति जागरूक करते हुए चाइल्ड लाइन जिला समन्यवयक जियालाल ने बच्चों को आपातकाल में मदद लेने के लिए चाइल्ड लाइन 1098 पर फोन करने के लिए जागरूक किया। टीम सदस्य मनीष सिंह टोल फ्री नम्बरों 1098, 1090, 1076, 181 के बारे में विस्तार से जानकारी दी,बच्चों ने अपने मन की बात व भावनाओं को चार्ट बनाकर प्रस्तुत किया और खेलकूद में बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। इस मौके पर पारख महासंघ के जिलाध्यक्ष श्री सुशील रावत, समाजसेवी अमरीश रावत, चाइल्ड लाइन से जीनत बेबी, अनिल यादव, अमित कुमार आदि मौजूद रहे।
नगर क्षेत्र के लखपेड़ाबाग स्थिति आनंद विहार कान्वेंट इंटर कॉलेज में चाइल्ड लाइन और महिला कल्याण विभाग ने संयुक्त रूप से मिशन शक्ति अभियान के तहत शक्ति संवाद एवं बाल अधिकार संगोष्ठी व चार्ट प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में बाल संरक्षण अधिकारी हरीश मोहन पाण्डेय के देख रेख में चार्ट प्रतियोगिता सम्पन्न हुई और स्थान पाने वाले छात्र छात्रों को पुरस्कृत किया गया। श्री पाण्डेय ने कहा कि बच्चों को पढ़ाई के साथ-साथ खेल कूद भी सिखाया जाए जिससे उनके मन और मस्तिष्क का ठीक से विकास हो सके। कानवेंट इण्टर कालेज के डायरेक्टर शैलेन्द्र सिंह ने कहा कि 20 नवंबर को अन्तरराष्ट्रीय बाल अधिकार दिवस का महत्व इसलिए और बढ़ जाता है क्योंकि आज के परिवेश में बच्चों के प्रति बढ़ रहे अपराधों और भौतिकता की दौड़ में उनके अधिकारों का हनन हो रहा है। चाइल्ड लाइन सदस्य पंकज राणा ने बच्चों को 1098 आपातकालीन फोन सेवा के बारे में जागरूक किया और चाइल्ड लाइन 24 घण्टे व सातों दिन कैसे कार्य करती है उसके बारे में भी बच्चों को विवरण से बताया साथ ही चौकी प्रभारी बड़ेल सब इन्सपेक्टर शशिकान्त सिंह से छात्र संवाद कराकर बच्चों की अपनी समस्या कहने को प्रोत्साहित किया। इस मौके पर पुलिस विभाग के अलावा महिला शक्ति केंद्र से रूबी श्रीवास्तव, जिला प्रोवेशन कार्यालय से रूचि शर्मा व नेहा गुप्ता, विद्यालय के प्रधानाचार्य सहित शिक्षक व शिक्षिकाएं उपस्थित रहे।

Related Articles

Back to top button