अब तकअभी तकसिद्धार्थनगर

Covid-19 महामारी का बचाव रखते हुए विसर्जन और विजयादशमी पर्व को मनाए —कुमारी मोनी पांडे।

सिद्धार्थनगर । महिला मोर्चा सिद्धार्थनगर की जिला अध्यक्ष कुमारी मोनी पांडे ने समस्त मातृशक्ति एवं सर्व धर्म समाज के लोगों से शांति व सद्भावना की अपील की — सिद्धार्थनगर भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष कुमारी मोनी पांडे ने कहा इस समय पूरा देश कोरोना संकट की घड़ी से गुजर रहा है भारत सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार ने हम सबको इससे बचने के लिए गाइडलाइन निर्धारित की है उसी का पूर्ण रुप से पालन करते हुए दुर्गा विसर्जन और विजयादशमी के पर्व को शांति व सद्भावना और भाईचारे का संदेश देते हुए संकल्प लेकर मनाएं और हम अपना बचाओ भी रख कर मास्क और सैनिटाइजर का उपयोग कर दो गज की दूरी पर रह कर माता से आशीर्वाद लेते हुए और शांति पूर्वक माता का विसर्जन करें जिससे हम इस महामारी से बच कर अपना बचाव भी रखें भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष कुमारी मोनी पांडे ने कहा कि नवदुर्गा महोत्सव और दशहरा सर्व समाज की जनता को भाईचारे का संदेश देकर लोग मनाते हैं हिंदू मुस्लिम सिख इसाई आपस में हम सब भाई भाई कुछ ऐसे भी स्वार्थी तत्व हैं जो समाज को लड़ाने का काम करते हैं हमें उनके बहकावे में नहीं आना चाहिए राम रहीम ही ईश्वर एक है कहा जाता है कि ‘हर देश में तू हर वेश में तू तेरे नाम अनेक तू एक ही है’ यही भाव लेकर हम लोग पर्व को शांति और सद्भावना के साथ मनाएंगे तो समाज में अच्छा संदेश पहुंचेगा और हम सभी को जागृत करने में कामयाब होंगे दशहरा पर हिंदुओं का पर्व है जोकि रावण के अहंकार को भी भगवान श्री राम ने ध्वस्त कर लंका पर विजय प्राप्त की थी और वहां का राज भी विभीषण महाराज को दिया था आज भी यही माना जाता है कि विजय सत्य की ही होगी। भाजपा नेत्री कुमारी मोनी पांडे ने कहा सिद्धार्थनगर की सम्मानित जनता से अपील है कि वे दुर्गा विसर्जन के दिन भीड़ भाड़ इकट्ठे ना करें और शासन की गाइडलाइन का पूर्ण पालन करते हुए हमें महामारी से बचना है और माता का आशीर्वाद लेते हुए शांतिपूर्ण ढंग से मैया को प्रसन्न करें। भाजपा महिला मोर्चा की जिला अध्यक्ष कुमारी मोनी पांडे ने कहा की विजयदशमी का पर्व हम सर्व समाज को असत्य नहीं सत्य पर चलने का संदेश देता है मर्यादा भगवान श्री परशुराम श्री राम ने रावण के सभी अधिकारों को तोड़कर पृथ्वी पर हो रहे अत्याचारों को मुक्त किया जिससे हमारी देवी देवता भी काफी प्रसन्न हुए या विजय अंजनी पुत्र हनुमान जी महाराज की कृपा से हुई उन्होंने मां जानकी सीता की खोज कर श्री राम जी से मिलवाया और रावण का वध करते हुए मां जानकी और सीता जी को अग्नि से निकालकर राम लक्ष्मण भरत शत्रुघ्न और सीता हनुमान नल नील जामवंत अंगद और सभी सेनाओं के साथ अयोध्या के लिए पहुंचे भगवान श्रीराम ने कहा अरे हनुमान तुम्हारे कारण मैंने लंका पर विजय प्राप्त की आपने मुझसे कुछ मांगा नहीं मैं आपको क्या दे सकता हूं हनुमंत जी ने कहा की है श्री राम जी आपके चरणों की सेवा करता रहूं यही मेरा महत्वपूर्ण पद है आपका मान और सम्मान में हमेशा अपने हृदय में बनाए रखूंगा भाजपा नेत्री कुमारी मोनी पांडे ने समस्त सिद्धार्थनगर की सम्मानित जनता को विजयादशमी दशहरे की हार्दिक शुभकामनाएं दी और कहा हम सब मिलकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के नेतृत्व में आत्मनिर्भर देश और प्रदेश को स्थापित करते हुए विकास के मार्ग पर आगे बढ़ेंगे। (बॉक्स ) सोनिया गांधी और प्रियंका गांधी वाड्रा कमलनाथ को मातृशक्ति का सम्मान करने की शिक्षा दें—– भाजपा महिला मोर्चा सिद्धार्थनगर कुमारी मोनी पांडे ने कहा कि मध्यप्रदेश में 28 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव होने जा रहे हैं जहां कांग्रेस ने प्रियंका गांधी वाड्रा को स्टार प्रचारक बनाकर उतारा है मैं उसे कहना चाहती हूं कि जिस प्रकार एक चुनावी सभा में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कांग्रेस नेता कमलनाथ में भाजपा प्रत्याशी श्रीमती बहन इमरती देवी जी को आइटम कह कर उन्होंने अपनी ओछी मानसिकता को प्रदर्शित किया है उन्हें मध्य प्रदेश के किसी भी विधानसभा में जाने का अधिकार नहीं क्योंकि सबसे पहले वे अपने कांग्रेसी नेता को महिलाओं का सम्मान करने की शिक्षा दें तब उनके बीच पहुंचे या वह मातृशक्ति है जो संकल्प लेती है फिर वह पूरा भी करती है प्रियंका गांधी महिलाओं के बीच जाकर किस मुंह से वोट मांगेंगे क्योंकि उनके नेता महिलाओं का सम्मान नहीं करना जानते और महिलाओं के विरोध में ओछी टिप्पणी कर देते हैं जिसके कारण उनके मन में ठेस पहुंचती है मैं मध्य प्रदेश की समस्त सर्व समाज की बहनों से कहना चाहती हूं कि अगर श्रीमती प्रियंका गांधी वाड्रा आपके पास आए तो उनके पास एक ही प्रश्न करें कि आपने महिलाओं के सम्मान की बात कब कही आप के नेता हमारे देश की मातृशक्ति के साथ इस तरह का व्यवहार करते हैं और उन्हें अपमानित करने का कार्य करते हैं ऐसी ओछी मानसिकता वाले को कमलनाथ जी को पहले महिलाओं के मान और सम्मान के लिए किसी पाठशाला में पहुंचाएं ताकि उन्हें मातृ शक्ति का सम्मान कैसे किया जाता है वह उनको सिखाया जा सके।

Related Articles

Back to top button