बाराबंकी

हर साल की तरह इम साल भी बड़े ही अकीदत के साथ मनाया जाएगा जशने उवैसे करनी

रिपोर्टर मो0 फारूक

बाराबंकी सिरौलीगौसपुर: जलसा उवैसे करनी ग्राम मदारपुर मीरापुर में हर साल की तरह इस साल भी बड़ी ही अक़ीदतों मोहब्बत से लोग मनायेगें इस प्रोग्राम में ज्यादा से ज्यादा हज़रात शिरकत (उपस्थित) होने की अपील मदरसा प्रबन्धक मोहम्मद अहमद रज्जाकी ने किया है। आप सभी जानते हैं कि पिछले साल भारत नहीं बल्कि पूरे विश्व भर में पूरी तरह से कोरोना काल लागू होने के कारण सभी कार्यक्रम व धार्मिक स्थलों पर पाबन्दियाँ थी। जिसकी वजह से सभी कार्यक्रम स्थगित कर दिये गए थे। यह प्रोग्राम हर साल शाबान के महीने में मुनक़्क़ीद किया जाता है। आपको बताते चलें कि हजरत उवैसे करनी र० त० अ० अपनी जिंदगी इस्लाम के आखिरी पैगम्बर मुहम्मद सल्लाहू अलैहि वस्सलम के बताए गए आदेशों का पालन करते हुए जिंदगी व्यतीत किया और अपनी उम्रदराज वालिदा (माँ) की सेवा करके हम लोगों को यह पैग़ाम दिया है कि जब आपकी माँ राजी हो गई तो समझो आपका रब्बुल इज्ज़त आपका पालनहार आपसे राजी हो गया और अपने मुल्क में अमनो शान्ति भाई चारा बनाएं रखें और अच्छों की सोहबत में रहने का बड़ा ही प्यारा पैगाम दिया।
यह अजीमुश्शान प्रोग्राम शाम बाद नमाज़े ईशा 1अप्रैल को मनाया जायेगा। जिसमें नातों मनकबत, उसके बाद आले नबी औलादे अली जा नशीने सरकार गौसे आजम हजरत सैय्यद शबाहत हुसैन ख़लीफ-ए-हुजूर गुलज़ारे मिल्लत मुरादाबादी का खिताब होगा।

मदरसा अहले सुन्नत कादिरीया उस्मानिया मदारपुर मीरापुर बाराबंकी में किया जायेगा।
यह जानकारी कमेटी के प्रबन्धक मौलाना मो० अहमद रज्जाकी साहब के द्वारा दी गई है, जलसा का उद्धघाटन ग्राम प्रधान द्वारा किया जाएगा। जिसमें क्षेत्र के सम्मनित हज़रात हाफिज मो० हसीब, मो० अमीन, आफ़ताब पत्रकार, मेराज अली (पुन्ना) हाफिज मो० इश्तियाक, मो० खलील, मो० अशरफ, मो० सिराज, मो० हाशिम, मो० इबरार, ताज मोहम्मद, मो० कलीम, कारी अशीक अली, हाफिज महफूज, मौलाना गयासुद्दीन साहब, हसीब अहमद, मो० नदीम, हाफिज रिजवान, अरमान, अब्दुल कलाम, आदि लोग शामिल होंगे।

Related Articles

Back to top button
error: Sorry !!