बाराबंकी

स्वैच्छिक संस्था वूमेन वेलफेयर फाउण्डेशन द्वारा चलाए जा रहे तीसरे बैच के छः द्विवसीय नेतृत्व विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम नई रोशनी का हुआ समापन

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी।आज दिनांक 27.02.2021 को स्वैच्छिक संस्था वूमेन वेलफेयर फाउण्डेशन बाराबंकी द्वारा कस्बा सतरिख मे चलाए जा रहे तीसरे बैच के छः द्विवसीय नेतृत्व विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम नई रोशनी के समापन अवसर पर डाक्टर आर के सिंह ने करोना महामारी से कैसे बचा जाए खॉसते और छींकते समय कम से कम 1 मीटर यानी 3 फिट की दूरी रहनी बहुत जरूरी है। बार बार अपने हाथों को साबुन से धोने चाहिए तथा सेनेटाइज भी करते रहना चाहिए। मास्क लगाकर रखना है और अधिक जानकारी हेतु टोल फ्री नम्बर 1075 या 01123958046 के बारे मे भी उपस्थित महिलाओं को बताया। स्थानीय सभासद तथा विभागीय लोगों ने प्रत्येक चयनित लाभार्थियों को मास्क तथा प्रमाण पत्र भी बाटें। अधिवक्ता ज्योती सिंह ने बताया की नेतृत्व एक ऐसी कला है जिससे लोगों को प्रभावित और निर्देशित करके सामान्य लक्ष्यों को हासिल करने के लिए लोगों का विश्वास सम्मान और सच्चा सहयोग प्राप्त किया जा सकता है। नेता को शिक्षित होना बहुत ही जरूरी है अध्यापन इस तरह से होना चाहिए कि वह लोगों को प्रेरित और प्रोत्साहित कर सके और उनका मार्गदर्शन तथा सहयोग भी कर सके। संस्था की सदस्या प्रमेन्दी सिंह ने महिलाओं को सरकार द्वारा चलाई जा रही कल्याणकारी योजनाओ के बारे में जाने और उनका लाभ ले। छः द्विवशीय नई रोशनी प्रशिक्षण कार्यक्रम मे लंच पैक, प्रशिक्षण किट वितरित किया गया। और कहा कि जल्द से जल्द सभी प्रतिभागियों के खाते मे आर. टी.जी.एस./निफ्ट के माध्यम से 600-600 रूपये की धनराशि भेज दी जायेगी इस अवसर पर वरिष्ठ अधिवक्ता कंमलेश चन्द्र शर्मा ने उपस्थित सभी महिलाओं को कानून की जानकारी दी तथा किस प्रकार वह अपने हक के लिए कानून की सहायता ले सकती है इसके बारे मे भी विस्तार से बताया इस मौके पर आंगनबाडी कार्यकत्री सुनीत देवी ने बताया कि महिला मण्डल को अपने स्तर पर स्थानीय मामलों को शामिल करते हुए नियमित रूप से बैठक संचालित करने की आवश्यकता हैद्य महिलाओं को गाँवों में घटित होने वाले बाल.विवाह पढाई छोड़ देनाध्बाल मजदूर लड़कीयों के मामलें आदि से संबंधित कुप्रथाओं के विरोध में आवाज उठाने के लिए एकजूट होना चाहिए इस अवसर पर हूरे जहरा जेबा नकवी प्रमोद कुमार यादव शिखा श्रीवास्तव आदि लोगों ने लाभार्थियों को सरकारी योजनाओ और महिलाओ से सम्बन्धित विभिन्न मुद्दों पर जागरूक किया।

Related Articles

Back to top button