अब तकअभी तकबाराबंकी

सेनाओं में पेंशन कम करने का प्रस्ताव अगर वापस नही लिया गया तो देश में सैनिक, पूर्व सैनिक व उनके परिवार रोड पर उतरने को होंगें बाध्य – सूबेदार मेजर जय प्रकाश मिश्र

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी, 07 नव0। वेटरन्स एसोसिएशन (पूर्व सैनिक संगठन) के संस्थापक व राष्ट्रीय अध्यक्ष समाजसेवी सूबेदार मेजर जय प्रकाश मिश्र ने प्रेस वार्ता कर बताया कि सेनाओं में पेंशन कम करने का प्रस्ताव सैन्य मामलों के विभाग द्वारा जारी किया गया है जिसका वेटरन्स एसोसिएशन व सभी पूर्व सैनिक जोरदार विरोध करते हैं और अगर इस प्रस्ताव को वापस नही लिया गया तो पूरे देश में सैनिक, पूर्व सैनिक व उनके परिवार रोड पर उतरने को बाध्य होंगें। बताते चलें कि सैन्य मामलों का विभाग सशस्त्र सेनाओं में निर्धारित समय से पहले सेवा निवृत्त होने वालों की पेंशन में कमी करने तथा अधिकारियों की सेवा निवृत्त होने की उम्र बढ़ाने का प्रस्ताव रखा है। नए प्रस्ताव के अनुसार सेना में कर्नल, ब्रिगेडियर और मेजर जनरल तथा नौ सेना और वायुसेना में उनके समकक्ष के सेवा निवृत्त होने की आयु क्रमसः 57,58 और 59 वर्ष होगी। अभी यह आयु सीमा 54, 56 और 58 वर्ष है। लेफिटनेंट जनरल और उनसे ऊपर के अधिकारियों के मामले में कोई बदलाव नहीं किया गया है। लॉजिस्टिक्स, टेकनिकल, मेडिकल (ई एम ई और ए एस सी सहित) जवानों और जे सी ओ की तीनों सेनाओं में सेवानिवृत्त करने का प्रस्ताव 57 वर्ष है। नये प्रस्ताव में पेंशन को सेवा की अवधि से जोड़ने की बात कही गयी है। इसके अनुसार 20 से 25 वर्ष की सेवा के बाद सेवा निवृत्त होने वालों को 50 प्रतिसत, 25 से 30 वर्ष की सेवा करने पर 60 प्रतिशत, 30 से 35 वर्ष की सेवा करने वाले जवानों को 75 प्रतिसत तथा 35 वर्ष से अधिक सेवा करने वालों को पूरी पेंशन दी जाएगी। श्री मिश्रा ने यह भी बताया कि इस प्रस्ताव के लागू होने से सेना के कुछ बड़े अधिकारियों को ही फायदा होगा, बाकी जवानों और जे सी ओज को काफी नुकसान होगा, जो जवानों और जे सी ओज के साथ घोर अन्याय है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। यह प्रस्ताव सरकार और कुछ ऑफिसर्स की सोची समझी साजिश है, जिसमें सरकार बैकफुट पे खड़ा होकर पूरे देश के सैनिकों को ठगने का काम कर रही है। इस मौके पर दिग्विजय मिश्र राष्ट्रीय युवा अध्यक्ष एवं मीडिया प्रभारी, वीरेंद्र पाठक राष्ट्रीय संयोजक, विनोद कुमार प्रदेश महासचिव, राजेश चंद्र मिश्र, प्रशांत कुमार द्विवेदी, आदि लोग मौजूद रहें।

Related Articles

Back to top button