बाराबंकी ब्यूरो चीफ दिलीप कुमार मिश्रा

फ़तेहपुर, बाराबंकी। सपा कार्यकर्ता संगठन को मजबूत करने के साथ-साथ स्नातक व शिक्षक चुनाव में लग जाएं, समाजवादी लोग संघर्ष के बल पर अपना रास्ता बनाते हैं। सपा कार्यकर्ता हताश और निराश न हो, संगठित होकर ही भाजपा की अलोकतांत्रिक नीतियों का विरोध किया जाएगा।

उक्त विचार आज विधानसभा कुर्सी में शिक्षक व स्नातक चुनाव संबंधी सपा कार्यकर्ताओं की बैठक को संबोधित करते हुए पूर्व मंत्री हाजी फरीद महफूज किदवई ने व्यक्त किए। हाजी फरीद महफूज किदवई ने कहा कि उपचुनाव व बिहार के परिणाम से कार्यकर्ता विचलित न हो, सपा आत्ममंथन कर पार्टी को मजबूती प्रदान कर 2022 का लक्ष्य हासिल करेगी। पूर्व मंत्री ने कार्यकर्ताओं को बूथ स्तर पर जाकर पार्टी से आम जनमानस को जोड़ने पर बल देते हुए कहा कि इससे पार्टी की नीतियां व उद्देश्य नीचे तक पहुंचते हैं।

वर्तमान सरकार पर हमला बोलते हुए पूर्व मंत्री फरीद महफूज ने कहा कि भाजपा के शासन में कानून व्यवस्था पंगु है , बेरोजगारी, मुंह बाये खड़ी है, धान की कालाबाजारी हो रही है, किसान दर-दर की ठोकरें खा रहा है, पीड़ित समाज की सुनने वाला कोई नहीं है।

पूर्व मंत्री ने स्नातक व शिक्षक विधान परिषद के चुनाव मे प्रत्याशी उमाशंकर चौधरी, राम सिंह राणा के चुनाव में गठित प्रभारियों से आवाहन किया कि वह सपा के पक्ष में मतदान करने में सभी मतदाताओं से मिलकर अपील करें।

सपा नेता अजय लोधी के संचालन में इस कार्यकर्ता बैठक को संबोधित करने वालों में सपा प्रदेश प्रवक्ता फैजान किदवाई, सपा उपाध्यक्ष/ प्रभारी कुर्सी मो सबाह, विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर लवकुश यादव, नगर अध्यक्ष नसीम गुड्डू, जिला सचिव रमेश यादव, सपा नेता असगर अली, शिक्षक सभा अध्यक्ष मनीष वर्मा, सयुष अध्यक्ष रंजीत यादव, बेलहरा अध्यक्ष सुनील सोनी, निंदूरा अध्यक्ष देशराज रावत, फतेहपुर अध्यक्ष सुरेश यादव, डॉक्टर सदरूद्दीन अंसारी, सपा नेता संजय सिंह, आनंद सिंह, अखिलेश यादव, छत्रपाल यादव, मनोज रावत आदि प्रमुख थे ।