बाराबंकी

शासन द्वारा टाइम एण्ड मोशन स्टडी के आधार पर परिषदीय विद्यालयों में शैक्षणिक कार्यों हेतु समयावधि एवं अध्यापकों के कार्य निर्धारण के सम्बंध में निर्गत शासनादेश सम्बंधी निर्देशों पर की गयी चर्चा

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी।।शासन द्वारा टाइम एण्ड मोशन स्टडी के आधार पर परिषदीय विद्यालयों में शैक्षणिक कार्यों हेतु समयावधि एवं अध्यापकों के कार्य निर्धारण के सम्बंध में निर्गत शासनादेश में दिये गए स्पष्ट निर्देशों पर समस्त हितधारकों जैसे बीएसए, बी0ई0ओ0, डायट मेंटर, एसआरजी एवं एआरपी एवं अध्यापकों के मध्य इसकी विधिवत चर्चा वेबिनार के माध्यम से की गयी। श्री हिफजुर्रहमान प्राचार्य, डायट गनेशपरु-बाराबंकी के द्वारा शासनादेश की मूल भावना जैसे- ग्रीष्म एवं शीतकाल में विद्यालय खुलने का समय, ग्रीष्म एवं शीतकालीन अवकाश की अवधि, अध्यापकों के
15 मिनट पूर्व विद्यालय पहुचना एवं विद्यालय अवधि के 30 मिनट बाद तक रूकने जैसे अन्य सकारात्मक वातावरण के निर्माण सम्बंधी निर्देशों पर चर्चा की गयी। वेबिनार में अध्यापकों की जिज्ञासाओं का समाधान भी बी0ई0ओ0 द्वारा किया गया अब लगभग
विद्यालय में 40 पंजिकाओं के स्थान पर मात्र 14 पंजिका ही बनाने का निर्देश दिया गया है प्रार्थना सभा स्थल पर नैतिक मूल्यों एवं सदाचार जैसे विषयों पर
शिक्षाकों द्वारा बताये जाने के साथ ही बच्चों से व्ख्यान भी दिलाये जाने के लिए प्रेरित किया गया।
उपरोक्त के साथ ही डायट मेंटर, एसआरजी एवं एआरपी को आकादमिक अनुश्रवण के लिए भी प्रेरित किया गया तथा विद्यालय के महौल को रूचिपूर्ण बनाते हुए शिक्षक व छात्रों के मैत्रीपूर्ण सम्बंध स्थापित करने के लिए भी प्रेरित किया गया जिससे कि छात्रां के अधिगम स्तर बढाते हुए प्रेरणा लक्ष्य प्राप्त किया जा सके और जपनद बाराबंकी को शीध्र ही प्रेरक जनपद घोषित जा सके।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button