लखनऊ

रेल मंत्रालय में एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आर डी बाजपेई की पत्नी और बेटे की हत्या का हुआ परदाफाश पुलिस की पूछताछ में उन्ही की नाबालिक बेटी ने किया हत्या का जुर्म कुबूल

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

लखनऊ के वीवीआईपी रेलवे कलोनी गौतम पल्ली में रेल मंत्रालय में एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर आर डी बाजपेई
की पत्नी और बेटे की हत्या उनकी नाबालिग बेटी ने की थी। पुलिस पूछताछ में उसने सच कबूल किया है।
पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि उसे अक्सर घर में भूत दिखाई देता है। पुलिस ने जब उसके कमरे की छानबीन की तो उसमें उन्हें कंकाल का चित्र पड़ा हुआ मिला। पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय ने बताया कि, “ राजेश दत्त बाजपेई बतौर  एग्जिक्यूटिव डायरेक्टर रेलवे बोर्ड में तैनात हैं और दिल्ली में रहते हैं । गौतमपल्ली के विवेकानंद मार्ग पर बंगला नंबर एक में उनकी पत्नी मालिनी, बेटा सर्वदत्त और 16 वर्षीय बेटी रहते थे। शनिवार को वाजपेई की पत्नी और उनके बेटे के शव उनके ही कमरे से बरामद किया गया।” घटना की जानकारी मिलते ही डीजीपी सहित पुलिस के आलाअधिकारी मौके पर पहुंच गये  घटना स्थल को सील कर दिया था इसके लिए 6 टीमें बनायी गयी थी। जांच में पता चला कि वारदात को उन्ही की नाबालिग बेटी ने अंजाम दिया।  घटना स्थल से एक हथियार भी बरामद किया गया है। उन्होंने बताया कि छानबीन में सामने आया है कि रेलवे अधिकारी की बेटी किशोरी ने पहले वीर खुद को छोटे पहुंचाई थी। किशोरी के हाथ में चोटों के निशान हैं। पुलिस ने छानबीन की तो टमाटर की चटनी से बाथरूम के शीशे पर कुछ लिखा मिला। किशोरी ने यह लिखने के बाद शीशे पर भी फायरिंग की। पुलिस आयुक्त का कहना है कि 22 बोर का असलहा बरामद कर लिया गया है।किशोरी ने इसी से मां और भाई पर गोलियां दागी पूछताछ में उसने बताया कि असलहे में उसने पांच गोलियां लोड की थी और तीन राउंड गोलियां दाग दीं।लखनऊ के सबसे पॉ़श इलाके में शनिवार को डबल मर्डर की घटना से सनसनी फैल गई दोपहर करीब सवा तीन बजे पुलिस कंट्रोल रूम को लड़की की नानी ने मालिनी और सर्वदत्त की हत्या की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस को लड़की सदमे में मिली। उसके दोनों हाथो पर धारदार हथियार से खरोंचों के निशान थे। वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी। पुलिस की एक टीम ने डॉक्टर को बुलवाकर उसका उपचार शुरू कराया। मां-बेटे के शव पलंग पर पड़े हुए थे दोनों के शव के ऊपर चादर पड़ा हुआ था। शवों को देखकर ऐसा लग रहा था जैसे दोनों को सोते वक्त गोलियां मारी गई है। बताया जा रहा है किशोरी राष्ट्रीय स्तर की निशाने बाज है। घटना स्थल पर उनके रिश्तेदारों ने बताया कि आरडी बाजपेई का शनिवार को जन्मदिन था। घर में काम करने वाली मेड ने पुलिस को बताया कि शनिवार दोपहर में वह खाना बनाने आई थी इस दौरान सभी लोगों को खाना खिलाकर वो दूसरे कमरे में काम करने लगी। इसके बाद उसे वाजपेई की पत्नी से घर जाने के लिए कहा। दो घंटे बाद उसे पता चला कि मालिनी और उनके बेटे सर्वदीप की हत्या कर दी गई
है|

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button