मिट्टी के बेतहाशा खनन का सिलसिला लगातार जारी

0
29

रिपोर्ट अनिल कुमार सोनी

बड्डूपुर(बाराबंकी) विकास खंड क्षेत्र में मिट्टी के बेतहाशा खनन का सिलसिला थम नहीं रहा है। शोर-शराबा होने पर यदाकदा अभियान चलाकर अंकुश लगाने का दावा किया जाता है। कुछ ही दिनों बाद धरातल पर हालात जस के तस नजर आते हैं। मैदानी क्षेत्र में उपजाऊ खेतों से मिट्टी का खनन कृषि उत्पादन के लिए भी घातक सिद्ध होगा, इसके बावजूद प्रभावी अंकुश नहीं लग रहा है।
मिट्टी के बेतहाशा खनन से उपजाऊ खेत चौपट हो रहे हैं। इस खेल में क्षेत्रीय प्रभावशाली लोग और पुलिस का ऐसा गठजोड़ हो गया है कि प्रशासन का अभियान सिर्फ औपचारिकता प्रतीत होता है। इन दिनों भट्ठे पर ईंट पराई व प्लॉटों में मिट्टी भराव का कार्य जोरों पर होने से खनन भी तेजी से किया जा रहा है। हर प्वाइंट पर करीब एक दर्जन हाइड्रोलिक ट्राली युक्त ट्रैक्टर लगे हुए हैं, जो मिट्टी की ट्राली भठ्ठों और आसपास के कस्बों में ले जा रहे हैं।

नियमों की धज्जियां उड़ाई जा रही है।

भट्टा संचालक जिन किसानों के खेत से मिट्टी लेंगे उसकी पूरी नापजोख कराकर खेत से दो मीटर तक की गहराई का खनन कर सकते हैं। जेसीबी से खनन कराने के लिए पर्यावरण विभाग से अनुमति लेने के बाद डीएम के आदेश कराना पड़ता है। इन सभी नियमों को दरकिनार करके जबरदस्त खनन कराया जा रहा है

यहां हो रहा है खनन

मिट्टी का खनन तो पूरे विकास खंड में हो रहा है लेकिन इन दिनों बड्डूपुर क्षेत्र के गोपालपुर ,खिझना,घुंघटेर के मंगलपुरवां ,पिड़सावां, बाबागंज, कुर्सी के उमरा ,टिकैतगंज ,अगासंड में खनन जोरों पर हैं।
यहां खपाई जा रही है मिट्टी
बड्डूपुर थाना क्षेत्र के गोपालपुर आसपास खेतों में खनन जोरों पर हो रहा है। इस क्षेत्र की मिट्टी भट्ठो में ईट पाथने व प्लॉटों की भराई में खपाई जा रही है।

इस संबंध में बड्डूपुर थाना प्रभारी निरीक्षक जितेन्द्र विक्रम सिंह ने बताया कि मामला जानकारी में नहीं है।अगर जानकारी मिलती है तो कार्रवाई की जाएगी।