भोगांव पुलिस ने दबोचे चार शातिर चोर – उप निबंधन कार्यालय में चोरी की वारदात को दिया था अंजाम

0
141

रिपोर्टर हिमांशु यादव भोगांव मैनपुरी

– एसपी ने पुलिस टीम को दिया 10 हजार का इनाम

जनपद मैनपुरी थाना क्षेत्र भोगांव तहसील परिसर भोगांव में 13 दिन पूर्व उप निबंधन कार्यालय में चोरी की बड़ी वारदात को अंजाम देने वाले चार शातिर चोर आखिर पुलिस के हत्थे चढ़ गए। पुलिस ने पकड़े गए चोरों के कब्जे से 92 हजार रुपए की नगदी, दो तमंचा, कारतूस, लोहे का बेलचा आदि सामान बरामद किया है।
पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पांडे ने पुलिस लाइन के मनोरंजन सदन में प्रेसवार्ता में बताया कि 16-17 फरवरी की रात तहसील भोगांव के उप निबंधन कार्यालय में चोरों ने चोरी की बड़ी वारदात को अंजाम दिया था। चोर कमरे का ताला तोड़कर उसमें रखा कैश बॉक्स उठा ले गए थे। जिसका मुकदमा थाना भोगांव में पंजीकृत कराया गया था। एसपी ने बताया इस खुलासे के लिए भोगांव पुलिस को कड़े निर्देश जारी किए गए थे। सीओ भोगांव प्रयांक जैन के नेतृत्व में थाना प्रभारी पहुॅप सिंह को मय पुलिसवल के साथ चोरो की तलाश में थे। एसपी ने बताया पुलिस की टीम अपराधियों की तलाश में जा रही थी। जीटी रोड पर नेशनल डिग्री कॉलेज रेलवे फाटक के निकट पुलिस को संदिग्ध युवक आते दिखाई दिए। पुलिस ने उन्हें रोकने का प्रयास किया तो वह भाग खड़े हुए। पुलिस ने पीछा करके रेलवे लाइन के किनारे भाग रहे एक युवक को पकड़ लिया। पकड़े गए युवक ने पुलिस को अपना नाम नीलेश उर्फ रामदीन निवासी नगला खरा थाना भोगांव बताया। पुलिस ने जब कड़ाई से पूछताछ की तब नीलेश ने पुलिस को बताया कि उसकी तहसील के ठीक सामने फोटोस्टेट की दुकान थी। उसे उप निबंधक कार्यालय में पैसा आने जाने का पता रहता था। नीलेश ने बताया उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर चोरी की वारदात को अंजाम देने की योजना बनाई थी। नीलेश की निशानदेही पर उसके साथी सचिन पुत्र अवधेश निवासी नगला खरा को भी गिरफ्तार कर लिया गया। इसके बाद पुलिस ने सौरभ पुत्र शमेन्दरपाल तथा दीपेश पुत्र अजय निवासी नगला खरा को भी गिरफ्तार कर लिया। नीलेश ने पुलिस को बताया की चोरी की वारदात को अंजाम देने के बाद वह कैश बॉक्स उठा ले गए थे। पाल ढाबा के सामने एक तालाब के पास जाकर ताला तोड़कर एक लाख 53 हजार रुपए कैशबॉक्स से मिले थे। जिनका बराबर बंटवारा कर लिया था। कैश बॉक्स में कुछ कागजात भी मिले थे जिन्हें तालाब में फेंक दिया था। पुलिस ने पकड़े गए बदमाशों के कब्जे से 92 हजार रुपए की नगदी, दो तमंचा, चार कारतूस, बेलचा, चोरी के पैसों से खरीदा गया कीमती मोबाइल बरामद कर लिया है। पुलिस ने लिखा पढ़ी के बाद चारों शातिर चोरों को जेल भेज दिया है। एसपी ने चोरी की वारदात का खुलासा करने वाली पुलिस टीम को 10 हजार का इनाम दिया है।।

कलम के स्थान पर थामी बंदूक

जिन हाथों में कलम और किताब होनी चाहिए। उस उम्र में हाथों में बंदूक थाम ली और अपराध की दुनिया में कदम रख दिया। ऐसे ही दो नाबालिग चोर पुलिस के हत्थे चढ़े हैं। तहसील के उप निबंधन कार्यालय में चोरी की वारदात देने वाले दो नाबालिक है।

नीलेश और सचिन शातिर चोर

पुलिस अधीक्षक अजय कुमार पाण्डेय ने बताया नीलेश और सचिन शातिर किस्म के चोर हैं। इनके खिलाफ जनपद के विभिन्न थानों में कई संगीन मामले दर्ज हैं। पुलिस को इनकी लंबे समय से तलाश थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here