अब तकअभी तकबाराबंकी

बेनी प्रसाद वर्मा समाजवादी आन्दोलन के नेता थे। बेनी बाबू एक ऐसे परिपक्व राजनेता थे जो अनुभवी, साहसी, दूरदर्शी और धुन के पक्के थे

बाराबंकी। बेनी प्रसाद वर्मा समाजवादी आन्दोलन के नेता थे। बेनी बाबू एक ऐसे परिपक्व राजनेता थे जो अनुभवी, साहसी, दूरदर्शी और धुन के पक्के थे।
जिन्होंने किसान नेता चौधरी चरण सिंह के साथ किसान आन्दोलन में अहम भूमिका निभाई। बेनी बाबू ने अपने रचनात्मक कार्यों से जनपद में विकास की गति को तेज किया।यह बात दिग्गज समाजवादी नेता एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व बेनी प्रसाद वर्मा की 81वीं जयंती पर गांधी भवन में समाजवादी चिंतक राजनाथ शर्मा ने कही।उन्होंने आगे कहा कि बेनी प्रसाद वर्मा सामाजिक गैरबराबरी, असमानता,छुआ-छूत के विरूद्ध हमेशा संघर्षरत रहे। बढ़ती उम्र और बीमारी के बाद भी
राजनीति सक्रियता में उनका कोई सानी नहीं था। बेनी बाबू की राजनीतिक सक्रियता ने बाराबंकी में विकास की गंगा बहाई। बेनी बाबू भारतीय राजनीति के प्रमुख हस्ताक्षर थे। उनकी समाजवादी आंदोलन में अहम भूमिका रही। बेनी बाबू ने समाजवादी नेता स्व. रामसेवक यादव से समाजवाद का ककहरा सीखा और
समाजवादी विचारों का अनुसरण कर देश व समाज का नेतृत्व किया।शर्मा ने बताया कि बेनी बाबू 1978 से गांधी जयंती समारोह के कार्यक्रम से जुड़े रहे। वह अपने जीवन के अंतिम जन्म दिवस पर गांधी भवन आए और महात्मा गांधी को नमन किया।इस मौके पर प्रमुख रूप से समाजसेवी अशोक शुक्ला, मृत्युंजय शर्मा, विनय कुमार सिंह, सत्यवान वर्मा, पाटेश्वरी प्रसाद, मनीष सिंह, अनुपम सिंह राठौर, आसिफ हुसैन, संतोष शुक्ला, नीरज दुबे, पी के सिंह सहित कई लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Back to top button