बाराबंकी

पर्यावरण दिवस के अवसर पर समाजसेवी सूबेदार मेजर जयप्रकाश मिश्र (पूर्व सैनिक) की अध्यक्षता में पूर्व सैनिकों द्वारा सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय पर वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया

रिपोर्ट मो0 फारूक

5 जून 2020 बाराबंकी। शुक्रवार को पर्यावरण दिवस के अवसर पर समाजसेवी सूबेदार मेजर जयप्रकाश मिश्र (पूर्व सैनिक) की अध्यक्षता में पूर्व सैनिकों द्वारा सैनिक कल्याण एवं पुनर्वास कार्यालय पर वृक्षारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें नीम का पेड़ लगाने का शुभारंभ करते हुए समाजसेवी मिश्रा जी ने बताया कि विश्व पर्यावरण दिवस मनाने का वजह है लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरूक करना और मानव विकास पर जीवन का समर्थन करने वाले आवश्यक बुनियादी ढांचे को प्रदान करना। विश्व में पर्यावरण प्रदूषण की समस्या विकराल होती जा रही है। पर्यावरण प्रदूषण की समस्या से निजात पाने के लिए लोगों को कुछ मुख्य बातों पर ध्यान देना होगा। लोगों को अपने घरों के आसपास पर्याप्त संख्या में वृक्षारोपण करना चाहिए, जिससे कि वातावरण शुद्ध होगा और मौसम सुचारू रहेगा। आजकल मौसम बहुत ही विकराल रूप ले रखा है इसका कारण सिर्फ और सिर्फ एकमात्र ज्यादा मात्रा में वृक्षों का कटना ही है। वातावरण कम से कम दूषित हो इससे बचने के लिए लोगों को अनावश्यक गाड़ियां चलाना बंद करना होगा और ज्यादा से ज्यादा पब्लिक ट्रांसपोर्ट को उपयोग में लाना होगा तथा फैक्ट्रियों की चिमनीयों से निकलते धुंए पर कंट्रोल करना होगा। मिश्रा जी ने वर्तमान में कोरोनावायरस की महामारी का उदाहरण देते हुए बताया कि जब प्रकृति की मार पड़ती है तो चाहे अमीर हो या गरीब हो कोई इससे वंचित नहीं रहता, इसलिए लोगों को अपने दिनचर्या में कुछ बदलाव लाने की आवश्यकता है। लोगों को अनावश्यक गाड़ियां लेकर घूमना या लंबी सैर पर नहीं जाना चाहिए तथा मार्केटिंग या सब्जी खरीदने पैदल जाना ही उचित होगा। इसका पहल पूर्व सैनिकों ने कर दिया है। बताते चलें कि मिश्रा जी ने लोगों से आग्रह किया की उनके घरों के आसपास जो भी खाली जगह हो उसमें पर्याप्त मात्रा में वृक्षारोपण करके वातावरण को दूषित होने से बचाएं। समाजसेवी मिश्रा जी ने अपने सहयोगी पूर्व सैनिकों के साथ शपथ लिया कि आगामी दिनों में पूरे प्रदेश में एक लाख नीम का पेड़ लगाएंगे। इस कार्यक्रम में दिग्विजय मिश्रा प्रदेश युवा उपाध्यक्ष एवं मीडिया प्रभारी, तारक प्रशाद, श्री मति शीला कर्मकार, मनोज कुमार, रामाज्ञा, रमेन्द्र वर्मा,विनोद कुमार, राकेश श्रीवास्तव,जी के शुक्ला, आदि लोग मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button