बहराइच

दरगाह शरीफ ईदगाह में नही होगी “ईद-उल-फित्र” की नमाज़

शीतला प्रसाद बाजपेयी 

बहराइच। दरगाह हज़रत सैय्यद सालार मसऊद गाज़ी (रह०) इंतिजामिया कमेटी के सदर सैय्यद शमशाद अहमद एडवोकेट और शाही मस्ज़िद के पेश इमाम मौलाना अर्शदुल कादरी ने अपने एक बयान में कहा कि इस साल कोविड 19 से बचाव और लाक डाउन के मद्देनज़र 25 मई दिन सोमवार को ईदगाह नूर उद्दीन चक में “ईद-उल-फित्र” की नमाज़ नही होगी।
दरगाह शरीफ के दोनों जिम्मेदारान ने सभी से और खास तौर से मुसलमानों से अपील करते हुवे कहा कि पूरी दुनियां में इस वक़्त कोरोना जैसी वबा फैली हुई है। हमारा अज़ीम मुल्क हिन्दुस्तान भी उसकी चपेट में है। लाखों लोग इस बीमारी से मुतास्सिर (प्रभावित) हैं और हजारों लोग अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं। समाजी दूरी (सोशल डिस्टेंसिंग) ही इस वबा से बचने का सबसे कारगर उपाय है। इस सिलसिले में मरकज़ी और रियासती हूकूमत की जानिब से जो गाईड लाईन जारी हुई है उस पर अमल करें।
सैय्यद शमशाद और मौलाना अर्शदुल कादरी ने कहा कि आपसे गुज़ारिश है कि “ईद” वाले दिन यानी सोमवार 25 मई को आप अपने अपने घरों पर ही नमाज़ “ईद-उल-फित्र” की जगह 4 रक्आत नवाफिल “शुकराना ” नवाफिल अदा कर अल्लाह की बारगाह में मुल्क की खुशहाली, तरक़्क़ी, अमन व अमान के साथ एक दूसरे के दुःख दर्द में शामिल होने और आलमी पैमाने पर फैली वबा कोरोना से निजात साथ ही लोगों की सेहतयाबी के लिये दुआ करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button