बाराबंकी

टिकैतनगर क्षेत्र में धड़ल्ले से हो रहा अवैध खनन प्रशासन बना अंजान

क्षेत्र में पीपा पुल बना खनन माफियाओं के लिए वरदान अवैध खनन माफियाओं के लिए सुरक्षित मार्ग

बाराबंकी टिकैतनगर थाना क्षेत्र के कोठरी गौरिया,व लोढ़ेमऊ घाट में अवैध खनन पर अंकुश लगा पाने में प्रशासन पूरी तरह से विफल है।

तमाम दावों के बावजूद भी इस क्षेत्र में खनन माफियाओं पर अंकुश लग नहीं पाया पुलिस की नाक के नीचे चल रही बालू की ट्रालियां

रात भर इस क्षेत्र में ट्रैक्टर ट्रालियों की आवाज गूंजती रहती है। जिम्मेदार अधिकारी अवैध खनन पर रोक के दावे भले ही कर रहे हों लेकिन वास्तविकता इससे परे है।

ग्रामीणों ने बताया स्थानीय पुलिस की बिना मिलीभगत के एक भी पत्ता नहीं हिल सकता है तो अवैध खनन कैसे हो रहा है।

आज़ महीनों से खनन माफिया धड़ल्ले से अवैध खनन करा रहे हैं। हालत यह है कि पूरी रात अवैध खनन करने वाली ट्रैक्टर ट्रालियां दौड़ती रहती हैं।

खनन माफिया इस क्षेत्र से अवैध रूप से सफेद बालू का खनन कर बाजार में मनमाने रेट पर बेंच रहे हैं।

इतना ही नहीं सरकार के द्वारा क्षेत्र में बनवाया गया पीपा पुल भी खनन माफियाओं के लिए किसी वरदान से कम नही है।

टिकैतनगर थाना क्षेत्र सबसे बड़ा खनन का ज़ख़ीरा माना जाता है।
इस पर जब कोई उच्च अधिकारी सवाल करता है तो उसे बड़ी आसानी से दूसरे जिले से जोड़कर गुमराह कर दिया जाता है जो एक बड़ा सवाल है।

Related Articles

Back to top button