अब तकअभी तकबाराबंकी

जिला युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल के तत्वाधान में जनपद स्तरीय एक दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का किया गया आयोजन

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी। 28 नवम्बर 2020। जिला युवा कल्याण एवं प्रादेशिक विकास दल के तत्वाधान में सिटी इण्टर कालेज प्रांगण में जनपद स्तरीय एक दिवसीय सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसका शुभारम्भ मुख्य अतिथि के रूप में सिटी इण्टर कालेज के प्राधाचार्य वी0पी0 सिंह एवं जिलायुवा कल्याण अधिकारी राजेश सोनकर ने माँ सरस्वती के चित्र पर माल्यापर्ण कर किया। उक्त प्रतियोगिता का समापन मुख्य अतिथि के रूप में जिला विकास अधिकारी के0के0 सिंह द्वारा किया गया।
उक्त सांस्कृतिक प्रतियोगिता में ग्रामीण अंचलों से आए तमाम प्रतिभागी सम्मिलित हुए तथा विभिन्न विधाओं लोकगीत एकल/सामूहिक, लोकनृत्य एकल/सामूहिक, ढोलक, तबला, हारमोनियम, बाँसुरी वादन में 18 से 35 वर्ष के युवाओं ने भाग लेकर विजय श्री हासिल किया। जिसमें लोकगीत एकल में तान्या भारद्वाज (प्रथम), दीपक वर्मा (द्वितीय), विशाल पाण्डेय ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। लोकनृत्य एकल में अनुष्का पाण्डेय प्रथम स्थान पर रही। ढोलक वादन में विशाल पाण्डेय, हारमोनियम वादन राजेश उपाध्याय विजयी रहे। एक्सटम्पोर प्रतियोगिता में एमेन जावेद फारूकी प्रथम, आयुषी द्वितीय, रजत बहादुर तृतीय श्रेणी में रहे।
कार्यक्रम की शुरूआत माँ सरस्वती वन्दना से हुयी। तान्या भारद्वाज द्वारा प्रस्तुत लोकगीत ‘‘रनिया बैरन पिया को लिए जाये रे, खाए धतूरा सौत बौराए रे, पानी बरसे टिकट गल जाये रे’’ तथा सामूहिक नृत्य ‘‘होली खेल रहे नन्दलाल वृन्दावन की कुन्ज गलिन में’’ प्रस्तुति पर दर्शक ताली बजाकर झूम उठे। समापन के अवसर पर जिला विकास अधिकारी के0के0सिंह तथा विशिष्ट अतिथि के रूप में युवा कल्याण विभाग के मण्डलीय उपनिदेशक संदीप कुमार शशांक उपस्थित रहे। दोनों अतिथियों द्वारा विजयी प्रतिभागियों को पुरूस्कार एवं प्रमाण-पत्र वितरण कर कलाकारों का उत्साहवर्धन किया गया। इस अवसर पर प्रभारी युवा कल्याण अधिकारी अमर बहादुर सिंह, मोहसिन अख्तर, पृथ्वीराज, तुलसीराम चौहान, उमाकान्त बाजपेयी, रजत बहादुर, राजेश कुमार यादव, कुलदीप समेत तमाम समभ्रान्त लोग उपस्थित रहे। निर्णायक मण्डल में मूसा खां अशान्त, रामकिशोर वर्मा, प्रदीप सारंग आदि लोग उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन प्रदीप सारंग ने किया।
उमाकान्त बाजपेयी

Related Articles

Back to top button
error: Sorry !!