अब तकअभी तकबाराबंकी

चाइल्ड लाइन 1098 की टीम द्वारा ‘मिशन शक्ति अभियान‘ के तहत ‘‘बाल विवाह कानूनन अपराध‘‘ विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता एवं जागरुकता कार्यक्रम का किया गया आयोजन

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी। सोमवार को विकास खण्ड मसौली स्थित पूर्व माध्यमिक विद्यालय न्योला करसण्डा में चाइल्ड लाइन 1098 की टीम द्वारा ‘मिशन शक्ति अभियान‘ के तहत ‘‘बाल विवाह कानूनन अपराध‘‘ विषय पर पोस्टर प्रतियोगिता एवं जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन किया। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि उप निरीक्षक थाना मसौली अरविन्द कुमार ने बच्चों को बाल विवाह से होने वाली परेशानियों के बारे में विस्तृत जानकारी देते हुए विकास, बौद्धिक व शारीरिक प्रताड़ना, और विकास अवरुद्ध होने की समस्याओं से अवगत कराया। उन्होने कहा कहीं बाल विवाह हो रहा हो या होने वाला हो, इसकी सूचना चाइल्ड लाइन 1098 व पुलिस को अवश्य दें। चाइल्ड लाइन जिला समन्वयक जियालाल ने चाइल्ड लाइन 1098 की जारी सेवाओं एवं चाइल्ड लाइन बच्चों की कैसे मद्द करती है, के बारे में उपस्थित बच्चों तथा अन्य लोगों को विस्तार से जानकारी दी। महिला कल्याण अधिकारी पूजा जायसवाल ने बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं, कन्या सुमंगला योजना के बारे में लोगों जागरुक करते हुए बाल विवाह पर चार्ट प्रतियोगिता एव खेलकूद प्रतियोगिता तथा जागरुकता रैली निकाली गयी। जागरूकता कार्यक्रम में बच्चों ने चार्ट प्रतियोगिता में प्रतिभाग किया। प्रथम, द्वितीय व तृतीय स्थान पाने वाले बच्चों को टीम द्वारा पुरस्कृत एवं बैच लगाकर सम्मानित किया। जिला समन्वयक रुचि शर्मा ने बच्चों को हौसला बढ़ाया। चाइल्ड लाइन काउंसलर अमृता शर्मा ने ‘चुप्पी तोड़ो खुलकर बोलो‘ विषय पर जागरुक करते हुए कहा कि किसी भी परिस्थिति में कोई प्रकार का संकोच नहीं करना चाहिए। परिस्थिति कोई भी हो, उनका निडरतापूर्वक सामना करना एवं खुलकर बोलने के प्रति प्रेरित किया। चाइल्ड लाइन सदस्य मनीष सिंह ने बालश्रम, भिक्षावृत्ति में लिप्त बच्चों के अच्छे भविष्य के लिये चाइल्ड लाइन 1098 पर सूचित करने की अपील की। टीम सदस्य अनिल यादव, जीनत बेबी व प्रदीप ने सरकार द्वारा जारी टोल फ्री नम्बर 101, 102, 108, 112, 181, 1090, 1098 के बारे में जानकारी साझा की। इस मौके पर विद्यालय की प्रधानाध्यापिका मीना खातून ने जनसेवा में समर्पित समस्त टीम एवं प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले छात्रों की सराहना की। छात्रों को उनके हित के लिए आवश्यकता पड़ने पर टोल फ्री नम्बरों का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया।

Related Articles

Back to top button