बाराबंकी

घाघरा नदी में चल रहे कार्यों का प्रमुख अभियंता ने किया निरीक्षण

सिरौलीगौसपुर बाराबंकी ।बाढ़ की विभीषिका से ग्रामीणों को बचाने के लिए बाढ़ विभाग द्वारा बाढ़ की रोकथाम के लिए होने वाले निर्माण कार्य में की जा रही लापरवाही की शिकायतों के बाद प्रमुख अभियंता परिकल्प एवं नियोजन ने निरीक्षण किया । समय पर कार्य पूरा करने के दिए सख्त निर्देश। बाढ़ विभाग के अधिकारियों द्वारा गुमराह किए जाने पर अधिक कटान वाले स्थानों का प्रमुख अभियंता द्वारा नहीं किया गया निरीक्षण । जिससे ग्रामीणों में मायूसी छा गई है । सिरौलीगौसपुर तहसील क्षेत्र की घाघरा नदी में प्रतिवर्ष आने वाली बाढ़ से कई गांवो का अस्तित्व समाप्त हो चुका है।बचे गांवो के अस्तित्व को बचाने के लिए शासन के निर्देश पर बाढ़ विभाग द्वारा नदी में दर्जनों ठोकरों का निर्माण कराया जा रहा है ।उक्त निर्माण कार्य में बरती जा रही लापरवाही को लेकर आक्रोशित ग्रामीणों ने इसकी शिकायत जिलाधिकारी से लेकर मुख्यमंत्री तक की है । ग्रामीणों की शिकायत के बाद बुधवार को प्रमुख अभियंता परिकल्प एवं नियोजन एके सिंह ने क्षेत्र के इटहुआ पूरब गांव में चल रहे कार्यों का निरीक्षण किया । निरीक्षण के दौरान मिली कमियों को दूर करने के साथ ही चल रहे कार्य को समय पर पूरा करने के निर्देश पर विभाग के अधिकारियों को दिए हैं । बाढ़ के अधिकारियों ने प्रमुख अभियंता को गुमराह करते हुए अधिक कटान वाले स्थानों सनांवा टेपरा सरांय सुरजन मे बनवाई जा रही ठोकरो पर बेहतरीन काम होने का दावा कर विदा कर दिया । जिले के बाढ़ विभाग के अधिकारियों की कार्यशैली से नाराज ग्रामीण सरायसुर्जन के पूरब और पश्चिम बनने वाले स्परों का विरोध कर रहे हैं । जिससे इनके निर्माण में बाधा बनी हुई है । बाढ़ विभाग के अधिकारी किसी आला अधिकारी के निरीक्षण के पूर्व ट्रैक्टरों को एक निश्चित स्थान पर दौड़ा कर कार्य की प्रगति को दिखाने का असफल प्रयास करते हैं ।जिससे स्थानीय ग्रामीणों में आक्रोश पनप रहा है । प्रमुख अभियंता के निरीक्षण के दौरान उत्कर्ष भरद्वाज अभियंता बाढ़ खंड राकेश भास्कर सहायक अभियंता अंकित सिंह अवर अभियंता सहित तमाम अधिकारी मौजूद रहे ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button