कन्नौज

एफएफडीसी ने कोरोना वायरस के लिये असरकारक सेनिटाइजर बनाया

कन्नौज

एफएफडीसी ने कोरोना वायरस के लिये असरकारक सेनिटाइजर बनाया है। यह सेनिटाइजर बाजार से काफी कम कीमत पर स्वास्थ्य विभाग व जिला प्रशासन को मुहैया कराया गया है। सांसद सुब्रत पाठक ने कलेक्ट्रेट परिसर में स्वास्थ्य कर्मियों सहित कोरोना ड्यूटी में लगे अन्य वारियर्स को सेनिटाइजर वितरित किया। कोरोना वायरस का खौफ बढ़ते ही कन्नौज में अचानक एल्कोहॉलिक सेनिटाइजर की शॉटेज हो गयी थी। जब लॉकडाउन हुआ और सरकार ने इसे महामारी घोषित किया तो सांसद, विधायक सहित कई समाजसेवियों ने कोरोना वारियर्स की मदद के लिये अपनी निधि देने का ऐलान किया। जिससे मास्क व सेनिटाइजर खरीदने की बात की गयी। प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग के जरिये कुछ दिन पहले सेनिटाइजर की एक खेप मंगाई भी थी, लेकिन वह बेहद घटिया निकली। जिसके बाद एफएफडीसी को सेनिटाइजर बनाने का जिम्मा दिया गया। इसके लिये बाकायदा डीएम की सिफारिश पर एफएफडीसी को ड्रग व आबकारी का लाइसेंस मुहैया कराया गया। करीब एक हफ्ते की कड़ी मेहनत के बाद एफएफडीसी में बाजार में बिकने वाले ब्रांडेड एल्कोहॉलिक सेनिटाइजर की टक्कर का सेनिटाइजर बनाने में सफलता पाई है। केंद्र ने पहली खेप में करीब 5 हजार बोतल स्वास्थ्य विभाग को दी है। जिसे सांसद की उपस्थिति में कलेक्ट्रेट परिसर में कोरोना ड्यूटी में लगे स्वास्थ्य विभाग के फ्रंटलाइन वर्कर जैसे एएनएम, आशा, एम्बुलेंस ड्राइवर एवं सफाई कर्मियो को मास्क, हैंड ग्लब्स के साथ वितरित किया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button