उत्तर प्रदेश जिला मान्याता प्राप्त एसोसिएशन के एक आपात बैठक कर एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरि प्रसाद वर्मा के आकस्मिक निधन पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित

0
164

स्टेट हेड शमीम की रिपोर्ट

बाराबंकी।उत्तर प्रदेश जिला मान्याता प्राप्त एसोसिएशन के एक आपात बैठक कर एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष हरि प्रसाद वर्मा के आकस्मिक निधन पर भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके द्वारा पत्रकारिता जगत में किये गए सहियोग एवम कार्यों पर चर्च हुई। संस्थान के अध्यक्ष तारीक किदवाई ने कहा कि उनका असमय चला जान पत्रकारिता जगत में हुई खाली जगह को कोई नही भर पायेगा। महासचिव प्रदीप सारंग ने कहा कि मेरी उन से आत्मीय और पारिवारिक लगाव के अतिरिक्त मेरे संरक्षक और अच्छे सलाहकार थे। निडर पत्रकारिता की मिसाल थे। श्री सारंग ने कहा कि उन्होंने पत्रकारिता को कभी भी बदनाम नही होने दिया।
मालूम हो कि स्व हरि प्रसाद का बीती 26 अप्रैल को निधन हो गया था। साथी, शुभचिंतक, सहयोगी, बेबाकी से अपनी राय देने और रखने वाले, बुद्धजीवी, हर समय अपनो की लिए खड़े रहने वाले वरिष्ठ पत्रकार उपजा के पूर्व महामंत्री, मीडिया क्लब बाराबंकी के अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश जिला मान्यता प्राप्त प्रत्रकार एसोसिएशन के वरिष्ठ उपाध्यक्ष, परिंदा संरक्षण पर्यावरण सेना के संरक्षक तथा आँखें फाउंडेशन के निदेशक हरि प्रसाद वर्मा ने 1982 में पत्रकारिता में कदम रखा और फोटो जॉर्नलिस्ट के तौर पर अपने कैरिएर की शुरआत की। प्रथम श्रेणी में साइंस स्नातक हरि प्रसाद कई साल सरकारी फोटो जॉर्नलिस्ट रहे।
सामाजिक सरोकार से जुड़े मुद्दों पर्यावरण बचने के लिए पांच राज्यों की यात्रा, हरियाली के लिए पदयात्रा करना आदि बहुत से कम है जो उन्होंने आम जन मानस के लिए कदम उठाए। राजनीति में भी सक्रिय रहने वाले हरि भाई पूर्व संचार मंत्री स्व बेनी प्रसाद वर्मा के काफी नजदीक रहे। पूर्व कारागार मंत्री राकेश वर्मा की कोर टीम में रहे है।
संरक्षक व वरिष्ठ पत्रकार हशमत उल्लाह तथा अहमद सईद किदवाई, सचिव मोहम्मद अतहर, संयोक्त सचिव कलीम किदवाई, कोषाध्यक्ष अमिर अली, दुर्गेश शुक्ला, सदानंद वर्मा, अब्दुल खालिक, मो आसिम, अजीज अहमद, शेख सैफ, मो अशरफ अल्वी, हिमायू कबीर, विवेक अवस्थी, सुनील सहारा, राजेन्द्र फोटो वाला, मो जुबैर, सईद अहमद फतेहपुर आदि ने शोक व्यक्त किया।