बाराबंकी

आश्वासन के बाद भी नही हुई तौल विकास भवन मे भाकियू द्वारा चल रहा धरना प्रदर्शन समाप्त

रामसनेहीघाट, बाराबंकी आश्वासन के बाद भी धान की तौल न होने से नाराज होकर धान लदे टैक्ट्ररों के साथ मुख्यमंत्री से मिलने जा रहे भाकियू कार्यकर्ताओं को पुलिस ने जबरिया वापस कर दिया मजबूरी में किसानों को अपना मिल पर बेचना पड़ा ।नेताओं ने केन्द्र प्रभारी पर किसानों को बेवकूफ बनाने एवं घपलेबाजी का आरोप लगाया तथा जांच कराकर कार्यवाही करने की शासन प्रशासन से की
भाकियू धर्मेंद्र गुट के राष्ट्रीय महासचिव राम सुरेश तिवारी ने बताया कि कई महीने से पहले से किसान अपना घर छोड़कर भिटरिया विपणन क्रय केन्द्र पर धान तौलने के लिये अपनी बारी आने का इंतजार कर रहे थे लेकिन अचानक नवागत क्रय अधिकारी द्वारा तौल बंद कर दी गई तो किसानों ने केन्द्र पर धरना देना शुरू कर दिया।15 फरवरी को डिप्टी आर एम ओ एवं केन्द्र प्रभारी ने तौल कराने का लिखित समझौता करके धरना खत्म करवा दिया गया।इसके बावजूद भी जब तौल शुरू नहीं की गई तो इसकी शिकायत अपर जिलाधिकारी से की गई तो उन्होंने डिप्टी आरएमओ से तौल कराने के लिए कहा।उन्होंने केन्द्र प्रभारी को नियमानुसार तौल कराने के निर्देश दिये फिर भी जब प्रभारी ने तौल नहीं की गई तो पुनः इसकी जानकारी एडीएम से को दी गई तो उन्होंने पुनः डिप्टी आरएमओ के पास भेज दिया गया।इसके बावजूद जब उन्होंने कोई ध्यान नहीं दिया तो जिला मुख्यालय पर ही धरने पर बैठ गया।सुनवाई न होने पर तीसरे दिन किसानों की मांग पर मुख्यमंत्री के पास जाकर शिकायत करने का फैसला किया गया।निर्णय के मुताबिक जब रविवार को किसान लखनऊ जाने लगे तो उन्हें जबरदस्ती वापस लौटा दिया गया।

Related Articles

Back to top button