उत्तर प्रदेशबाराबंकी

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर हुआ आयोजन

ब्यूरो चीफ : दिलीप मिश्रा

हैदरगढ़, बाराबंकी। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर बेसिक शिक्षा विभाग द्वारा बीआरसी हैदरगढ़ में बीईओ नवाब वर्मा के निर्देशन में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। जिसमें दीप प्रज्ज्वलन के बाद स्वागत गीत प्रस्तुत कर कार्यक्रम की शुरुआत की गयी। कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि मौजूद एसडीएम हैदरगढ़ श्रीमती शालिनी प्रभाकर ने कहा प्राचीनकाल से ही भारत में नारी का सम्मान होता रहा है, यह माना जाता है कि जहां नारी की पूजा होती है वहां देवता निवास करते है। आर्यों के समय में नारी के बिना कोई भी यज्ञ पूरा नही हो सकता था। परन्तु पिछले कुछ दर्शकों पूर्व से महिलाओं के प्रति पुरुष समाज का व्यवहार बदलता गया और महिलाओं को केवल घर की चारदीवारी में बंद होकर रहना पड़ा। परन्तु समय ने फिर करवट बदली और आज महिलाएं सभी क्षेत्रों में पुरुषों का मुकाबला कर रही है।

कार्यक्रम में कई विद्यालयों के बच्चों द्वारा जागरूकता गीत, नाटक, नृत्य, भाषण के साथ है विभिन्न शिक्षकों द्वारा सड़क सुरक्षा, कन्या भ्रूण हत्या, बाल विवाह, लैंगिक समानता, बालिका शिक्षा, बालश्रम व हेल्पलाइन नंबर और उनके प्रयोग पर अपने अपने विचार व्यक्त करते हुए जागरूकता का प्रयास किया गया। अंत में बीईओ के धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा नारी की शक्ति को कभी भी कम नहीं आंकना चाहिये। भारतीय समाज में महिलाएं समय के साथ ही अपना बहुमूल्य योगदान देती रही है। समय आने पर सीता, द्रोपदी, झांसी की रानी, कल्पना चावला, इंदिरा गांधी जैसी निडर बनकर मिसाल पेश करती है। जिला संगठन मंत्री दीपक मिश्रा ने विचार व्यक्त करते हुए कहा कि वर्तमान युग नारी का युग है और नारी अपने परिश्रम, लगन, बौद्धिक बल व क्षमता के आधार पर पुरुषों के साथ चल रही है। उक्त कार्यक्रम में प्रदीप मिश्रा, दीपक मिश्रा, विवेक गुप्ता, बृजेन्द्र सिंह, रूद्रकांत बाजपेयी, सत्यदेव सिंह, सावना मिश्र, महेन्द्र प्रताप सिंह, आशा गुप्ता, धर्मेन्द्र मिश्र, शैलेंद्र सिंह, मदन वर्मा, मुबीन अहमद, शिवानी सिंह, योगेश मिश्रा, लक्ष्मी खरे, अजया अवस्थी, भावना मिश्र, शिखा शुक्ला, पूनम सिंह, प्रियंका सिंह, गुलशन जफर, निरूपमा मिश्रा सहित सैकड़ों शिक्षक-शिक्षिकाएं उपस्थित रही।

Related Articles

Back to top button